Dr. Rakesh Kumar Singh "Indian weddings and festivals", that is the answer of any tourist in India, if asked, "What do you like in India"? And what they like in Indian marriages? He will simply answer "street dance by baratis...
Dr. Suresh Awasthi शिक्षक ने छात्र से पूछा, 'चोर चोर मौसेरे भाई' मुहावरे का अर्थ बताइये छात्र बोला सर ताजा ताजा उदाहरण है गौर फरमाइए अभी अभी हाल में टैगोर व मुखर्जी के बंगाल में एक चोर को बचाने के लिए रास्ट्रीय दीदी सिंहासन छोड़ कर संविधान की टांग तोड़ कर मैदान में...
Mohini Tiwariबिजली विभाग ने की हड़बड़ी बिलों में आई महा गड़बड़ी नेता जी के घर लग गया मेला ताल ठोककर बोला बेवकूफ चेला सुनो भाइयों, नेता जी हमारे बड़े काबिल वही चुकाएंगे सबके बिल ! चार सौ चालीस वोल्ट का लगा झटका नेता ने चेले को...
Dr.Suresh Awasthi राजनेताओं ने एक दूसरे पर कीचड़ उछालने के लिए जिस तरह से कुछ शब्दों का घटिया प्रयोग किया, तमाम शब्दों को अपने ऊपर अस्तित्व संकट नज़र आने लगा। अंततः इन शब्दों ने भाषा संघ से गुहार लगाई तो...
उस दिन मैंने टीवी किया ऑन चीख-चीखकर एक एंकर दे रहा था ज्ञान कोरोना पर बहस का सिलसिला था जारी नेता, डॉक्टर, वकील, संत कौन था आखिर किस पर भारी ? सब के मुँह पर थी मास्क की छाया कोरोना के फेर ने सबको उलझाया 'साजिश...
Dr. Suresh Awasthi अ अगड़ा ब पिछड़ा स अति पिछड़ा द तगड़ा चारों ने इक दूजे को भाषण के चिमटे से पकड़ा फिर जम कर रगड़ा जनता समझ न पाई लफड़ा किसका भारी है पलड़ा पागल सी हो फाड़े कपड़ा चुनाव बाद न कोई अगड़ा न कोई पिछड़ा हर कोई तगड़ा फिर काहे का...

था, थे, थी

डॉ सुजाता वर्मा था, थे, थी। यह तीन अक्षर ही हमें प्रिय हैं। यह हमें भूत की ओर ले जाते हैं। हमारे पूर्वजों से हमारा सानिध्य कराते हैं। उनकी यशोकीर्ति...
Dr. Suresh Awasthi ईवीएम ने मतपेटिका से कहा, बहना देश के तमाम नेता आप की याद में हिचकियाँ ले रहे हैं आप को वापस बुलाने की दुहाई दे रहे हैं मेरे को लेकर खड़े कर रहे हैं आरोपों के पहाड़ बार बार कह रहे हैं ईवीएम से हो रही छेड़छाड़ मतपेटिका...

चौकीदार

Dr. Suresh Awasthi शिक्षक बनने की चाहतें कोर्ट में फंस गयीं क्लर्क बनने की कोशिशें पेपर आउट होने के दलदल में धंस गयीं निजी संस्थान के ठेकेदार ने तो बीमार ही कर दिया मेहनताना बहुत कम दिया, खून ज्यादा पिया ओवरएज हो के पकौड़े भी खूब तले पेट भरने भर के...
Dr. Suresh Awasthi गुरुदेव जब दो दिनों तक गुरुकुल नहीं आए तो दो शिष्य उनकी कुटी में पहुंचे। वहां उन्हें जो दिखा व जोर का झटका धीरे से लगाने वाला था। गुरुदेव तख्त पर पालथी मारे ध्यानमुद्रा में बैठे थे।...
17,569FansLike
2,287FollowersFollow
14,200SubscribersSubscribe

Recent Posts