गीत

सुधियों के झुरमुट ना होते- तुम फिर मेरे पास न होते मुग्ध पलों के पृष्ठ बांचने- आये सावन के साक्षी घन खिड़की से कमरे में आकर- बूंदें दिखलातीं अपनापन खुशबू के आभास न होते- तुम फिर मेरे पास न होते चीड़ वनों में घाटी गायें- पर्वत श्रोता बन...
Pankaj Bajapiआदिवासी समाज सदैव अपनी अनोखी परंपराओं के लिए पहचाना जाता है । ऐसी ही एक अनोखी परंपरा गुजरात राज्य के छोटा उदयपुर में लड़के के विवाह के समय पालन किया जाता है ।      इस समुदाय विशेष में लड़के...
Those who were known as dreaded dacoit kings and queens are now in the social stream. They are regarded as the most simple and helping people in the areas they live. They say that they were simple people. They never...
Pankaj Bajpai कुम्भ भारतीय संस्कृति का महापर्व कहा गया है।इस पर्व पर स्नान,दान,ज्ञान मंथन के साथ ही अमृत प्राप्ति की बात भी कही जाती है।कुम्भ का बौद्धिक,पौराणिक,ज्योतिषीय के साथ साथ वैज्ञानिक आधार भी है।वेद भारतीय संस्कृति के आदि ग्रंथ हैं।कुम्भ...

Grooming with new style

Kanchan Gupta The fashion in clothing is taking twist and turns very now and then. We as professionals remain deeply concerned to deliver the latest to the society. With the changing season and celebrations around we have to take care...
17,569FansLike
2,287FollowersFollow
14,200SubscribersSubscribe

Recent Posts