Dr. Suresh Awasthi कुछ लोग गांधी पर बहस कर रहे थे एक बोला गांधी महान थे राजनीतिक उठा पटक से दूर सच्चे इंसान धे उन्होंने चलाया आन्दोलन सत्याग्रह स्वदेशी इसी लिये गाधी थे पक्के कांग्रेसी। दूसरा बोला गांधी जी ने दलितों को गले लगाकर उन्हे हरिजन की पदवी दिलवाई इससे...
Dr. Suresh Awasthi गुरुकुल में शिष्यों ने गुरुदेव के सामने चिडिय़ाघर में जाड़े की पिकनिक मनाने का प्रस्ताव रखा तो गुरुदेव नाराज हो गए। बोले,'क्या देखने जाओगे चिडिय़ाघर में? बंदर देखने हैं तो शहर के जिस मोहल्ले में निकलों खों...
Dr. Suresh Awasthi गुरुदेव जब दो दिनों तक गुरुकुल नहीं आए तो दो शिष्य उनकी कुटी में पहुंचे। वहां उन्हें जो दिखा व जोर का झटका धीरे से लगाने वाला था। गुरुदेव तख्त पर पालथी मारे ध्यानमुद्रा में बैठे थे।...
Dr. Rakesh Kumar Singh "Indian weddings and festivals", that is the answer of any tourist in India, if asked, "What do you like in India"? And what they like in Indian marriages? He will simply answer "street dance by baratis...
''पुराने कैलेंडर से नये पर उतारा दूध का हिसाब। अलमारी में रख दी बीत चुके साल के त्योहारों की किताब। पहले व्यापारिक मित्रों को शुभ कामना संदेश भेजा। फिर पहचान वालों को सहेजा। जोड़ी-घटाई दुनियादारी। बस हो गयी नये साल के स्वागत की तैयारी।'' आम आदमी से पूछा, नये साल...

था, थे, थी

डॉ सुजाता वर्मा था, थे, थी। यह तीन अक्षर ही हमें प्रिय हैं। यह हमें भूत की ओर ले जाते हैं। हमारे पूर्वजों से हमारा सानिध्य कराते हैं। उनकी यशोकीर्ति...
Dr.Suresh Awasthi राजनेताओं ने एक दूसरे पर कीचड़ उछालने के लिए जिस तरह से कुछ शब्दों का घटिया प्रयोग किया, तमाम शब्दों को अपने ऊपर अस्तित्व संकट नज़र आने लगा। अंततः इन शब्दों ने भाषा संघ से गुहार लगाई तो...
17,569FansLike
2,287FollowersFollow
14,200SubscribersSubscribe

Recent Posts