टुकड़े टुकड़े गांधी

0
950
Dr. Suresh Awasthi

कुछ लोग गांधी पर बहस कर रहे थे
एक बोला गांधी महान थे
राजनीतिक उठा पटक से दूर
सच्चे इंसान धे
उन्होंने चलाया आन्दोलन
सत्याग्रह स्वदेशी
इसी लिये गाधी थे पक्के कांग्रेसी।
दूसरा बोला
गांधी जी ने दलितों को गले लगाकर
उन्हे हरिजन की पदवी दिलवाई
इससे साबित होता है
कि वो थे पक्के बसपाई

तीसरे ने दोनो को डाटा और बोला
आदमी जिन्दगी भर झूठ सच मे
डालता है
पर मरते समय बिल्कुल सच बोलता है
गांधी ने मरते समय राम राम की आवाज़ लगाई
इस लिये मेरा दावा है
कि गांधी जी थे पक्के भाजपाई

चौथा बोला
दलों के दलदल मे पडकर
देह को तो काट ही चुके हो
आत्मा को तो मत काटो
आंगन का बंटवारा क्या कम है
कम से कम बापू को तो मत बाटो।