ट्विटर स्पेस पर समय बिता रहे हैं एक्सपर्ट्स और सेलिब्रेटी  

0
449
Vibha Pathak
  • स्वरचित रचनाएं सुनाने के साथ सब्जियों पर भी होती है चकल्लस
  • अपने क्षेत्रों के एक्सपर्ट अक्सर रात में बकैती कर मिटाते है थकान
  • संपर्क बढ़ने के साथ देशों की सीमाएँ लांघ दिलों के रिश्ते जुड़ रहे आवरिष्ठ संवाददाता।

यदि आप स्वरचित रचनाएं लिखते हैं और सोचते हैं कि यह सही है या नहीं। कहीं इन्हें सुनाकर हंसी का पात्र तो नहीं बन जाउंगा। तो अब आपको ज्यादा परेशान होने की जरूरत नहीं है। दरअसल इसके लिए आप ट्विटर स्पेस को माध्यम बना सकते हैं। भारत की सेलिब्रेटी, एनआरआई के साथ अपने-अपने क्षेत्रों के दिग्गजों के सामने आप अपनी रचनाएं सुना सकते हैं।


रचनाओं के साथ हंसी मजाक के बीच सब्जी, काफी से लेकर अन्य मुद्दों पर बात करने का अवसर मिलता है। साथी ही एक दूसरे से आपका संपर्क भी बढ़ता है। गुड़गांव में रहने वाली युवती और आईटी क्षेत्र में यूके में काम कर रहा युवक लोगों को जोड़ने का काम कर रहा है। हालांकि ज्यादातर यूजर्स ऐसे भी हैं जो यह नहीं चाहते कि उनकी आईडेंडिटी रिवील हो। इसलिए उन्हें निक नाम या दोस्त के नाम से एकाउंट बनाए हुए हैं।

अंग्रेजी में गिटपिट नहीं चाहते

अपनी दैनिक दिनचर्या में इंग्लिश भाषा में गिटपिट करने के बाद भारतीय समय के अनुसार रात होते ही सब हिंदी में ही बात करते हैं। को होस्ट का काम महिलाओं के जुड़े होने से बातचीत के दौरान गरिमा को बनाए रखना होता है। सभी ग्रुप मेबर्स एक दूसरे की टाइम जोन का सम्मान करते हैं। आरजे और कारोबारी भी जुड़ते हैं।

महिलाओं को याद आता है मायका

एनआरआई महिलाएं भारत में अपने मायके की यादों में भी खो जाती है। रचनाओं के जरिये अपने क्षेत्र से जुड़ी यादें भी साजा करती हैं। यदि आप सिर्फ सुनना चाहते हैं तो आप लिश्नर मोड पर जा सकते है लेकिन पहले आपको अपने बारे में बताना होगा। बिहार